Breaking News

नाहर ग्रुप ने 58 वीं प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ पोडियम गार्डन की श्रेणी में प्रथम पुरस्कार और 24 वें बीएमसी प्रतियोगिता में गार्डन और बागवानी के लिए दूसरा पुरस्कार जीता

ashish dwivedi 18 February 2019 7:29 PM Business 1255

13 फरवरी 2019 मुंबई: बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने शहर में पेड़ों, बगीचों और खाद बनाने का काम करने वालों में अच्छा काम करने वालों को सम्मानित करने के लिए एक प्रतियोगिता की घोषणा की थी। नागरिक संस्था, जो पेड़ों के संरक्षण और खाद को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न उपाय करती है, इस संस्था  ने कई श्रेणियों में प्रतियोगिता आयोजित की थी। नाहर ग्रुप ने नेशनल सोसाइटी ऑफ फ्रेंड्स ऑफ द ट्री (FOT) द्वारा 58 वीं प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ पोडियम गार्डन की श्रेणी में प्रथम पुरस्कार जीता। पूरे मुंबई में से 58 प्रतिस्पर्धी और उद्योग, कॉरपोरेट्स, सरकारी/अर्ध सरकारी संगठन और प्रतिष्ठित बिल्डर्स में से 130 प्रविष्टियाँ थीं। इसके अलावा, पिछले सप्ताह नाहर ग्रुप ने 24 वीं बीएमसी प्रतियोगिता में गार्डन और बागवानी के लिए दूसरा पुरस्कार जीता।

नाहर ग्रुप ने सतर्कता से अपने रहने के वातावरण की सामाजिक और भौतिक गुणवत्ता में सुधार के लिए सार्वजनिक उपयोग के लिए अपनी टाउनशिप में अधिक खुली जगह और सांप्रदायिक सुविधाएं प्रदान करने की दिशा में प्रयास किया है। इसका एक उत्कृष्ट उदाहरण नाहर अमृत शक्ति है, जो अपने निवासियों के लिए हरे-भरे पेड़ों और बगीचों के बीच स्थित 125 एकड़ की टाउनशिप है। नाहर ग्रुप उन कुछ डेवलपर्स में से एक है, जिन्होंने अपने निवासियों के लिए एक वाहन मुक्त पोडियम गार्डन बनाया है, जो मूल रूप से एक खुली जगह है और जो एक इमारत के मध्यवर्ती तल पर स्थित है, या आमतौर पर जमीनी स्तर से 2-5 मंजिले ऊपर हैं, जो उच्च-इमारतों के निर्माण का आधार बनती हैं। पोडियम टॉवर की डिजाइन पश्चिमी शहर जैसे लॉस एंजिलस, सिडनी और लंदन में लोकप्रिय है और अब भारत में डेवलपर्स भी इसे अपनी परियोजनाओं में शामिल कर रहे हैं। पोडियम स्पेस एक महपूर्ण शहरी तत्व है और भारत में शहरी डेवलपर्स में प्रमुख बन चुका है।

नाहर ग्रुप हमेशा संरक्षण और स्थिरता के मामले में सबसे आगे रहा है और इस तरह के अनोखे डिजाइन और प्रतियोगिताओं से आम लोगों के साथ-साथ निगमों में भी पेड़ लगाने की आदत पैदा होती है। इससे अन्य डेवलपर्स को सक्रिय रूप से न केवल एक प्रतियोगिता के लिए, बल्कि आने वाली पीढ़ी के टिकाऊ भविष्य के लिए पेड़ लगाने पर ध्यान केंद्रित करने में प्रोत्साहित करना चाहिए।

Related News