Breaking News

केजरीवाल के मोहल्ला क्लीनिक की तर्ज पर कमलनाथ बनाएँगे “संजीवनी क्लिनिक”

Harshit Sharma 06 February 2019 5:02 PM State 81764

 

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने शुरू की थी “मोहल्ला क्लिनिक” सेवा

अब कमलनाथ सरकार बनाएँगी मध्यप्रदेश में “संजीवनी क्लिनिक”

छिंदवाड़ा और गुना में पायलट प्रोजेक्ट के तौर ओर शुरू होगा “संजीवनी क्लिनिक”

भोपाल। मात्र 6 साल पुरानी आम आदमी पार्टी की दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार ने मोहल्ला क्लीनिक सेवा शुरू की थी। उसकी दुनियाभर में जमकर तारीफ भी की गई। अब मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार ठीक उसी तर्ज पर ‘संजीवनी क्लीनिक’ शुरू करने जा रही है। सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री कमलनाथ इसकी शुरुआत अगले महीने छिंदवाड़ा और गुना पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर कर सकते है। पिछले दिनों प्रशासन अकादमी में महानिदेशक एपी श्रीवास्तव की अध्यक्षता में गठित समिति की बैठक हुई। इस बैठक में सामान्य प्रशासन विभाग के अपर मुख्य सचिव वीसी सेमवाल, कृषि उत्पादन आयुक्त प्रभांशु कमल और माध्यमिक शिक्षा मंडल के अध्यक्ष इकबाल सिंह बैंस समेत प्रमुख विभागों के अफसर मौजूद थे।

मध्यप्रदेश की लचर स्वास्थ्य व्यवस्था का हाल किसी से छुपा नही है ऐसे में कमलनाथ का यह कदम प्रदेश की बड़ी आबादी को फायदा पहुचाने में कारगर साबित हो सकता है ।

गौरतलब हो कि भारत की 89 प्रतिशत आबादी अपनी जेब से स्‍वास्‍थ सेवाओं के लिए पैसे खर्च करती है। मात्र 17 प्रतिशत लोगों के पास ही भारत में हेल्‍थ इंश्‍योरेंस है। मोहल्‍ला क्लिनिक में आप को 110 दवाएं और 212 डॉयग्‍नोस्टिक टेस्‍ट पूरी तरह से फ्री हैं।

क्‍या है मोहल्‍ला क्लिनिक

मोहल्‍ला क्लिनिक सुनने में ही आप को थोड़ा देसी टाइफ का फीलिंग देगा। मोहल्‍ला क्लिनिक खोलने का कॉन्‍सेप्‍ट सबसे पहले दिल्‍ली में आप सरकार लेकर आई थी। जिसका सीधा सा उद्देश्‍य लोगों को मुफ्त में स्‍वास्‍थ सेवाएं मुहैया करना था। यह एक प्राइमरी हेल्‍थ सेंटर है जो लोगों को जुखाम बुखार जैसी मामूली बीमारियों से निजात दिलाने के लिए दिल्‍ली सरकार ने शुरु किए थे। यहां मरीज को दवा, डॉयग्‍नोस्टिक्‍स सहित डॉक्‍टरी सुझाव फ्री में मिलते थे। मोहल्‍ला क्लिनिक को शुरु करने के पीछे वजह थी सरकारी अस्‍पतालों की भीड़ को कम करना। जहां गंभीर बीमारियों से लेकर जुखाम बुखार से पीडि़त मरीज घंटो लाइन में खड़ा रहकर अपने बारी का इंतजार करता है। कि कब डॉक्‍टर फ्री होगा और उसे देखेगा।

निश्चित तौर पर मध्यप्रदेश में “संजीवनी क्लिनिक” भी इसी तर्ज पर बनाये जायेगे जिससे प्रदेश के लोगो को अच्छा प्राथमिक इलाज मुहैया हो सकेगा।

 

Related News