लोक अदालत में हुआ पति पत्नि का समझौता,माला पहनकर घर हुए रवाना

Harshit Sharma 11 July 2021 10:43 AM City 82395
  • बिजली और नपा के मामले सुलझे लाखों की बकाया राशि हुई जमा,

  • 1803 प्रकरण में से 244 हुए निराकृत

 

पिपरिया। अदालत परिसर में रविवार को नेशनल लोक अदालत का पूजन अर्चन से शुभारंभ हुआ। अदालत में 1803 प्रकरण रखे गए इसमें 244 मामलों का निराकरण हुआ जो उत्साहजनक है। अदालत का शुभारंभ कीर्ति कश्यप द्वतीय जिला न्यायाधीश, कुसुमहर चक्रवर्ती वरिष्ठ सिविल जज, देव कुमार पाठक सिविल जज, विंदिया पाठक सिविल जज की उपस्थिति में किया गया। अदालत में राजीनामे के 48 केस निराकृत हुए। कुल समझौता राशि 38,85,000 की राशि अवार्ड,डिक्री,मुआवजा के आदेश पारित हुए। प्रीलिटिगेशन के 1803 मामले विचारार्थ रखे गए इसमें 244 का निराकरण हुआ 1326773 राशि पर समझौते हुए। लोक अदालत में बिजली विभाग और नगरपालिका के बकाया वसूली मामलों के निराकरण से करीब 10लाख 68 हजार की राशि जमा हुई। लोक अदालत में अधिवक्ता संघ अध्यक्ष श्याम कुमार वर्मा, सचिव कमलेश पुर्विया, सलाहकार सदस्य शिवकुमार पचौरी, आनंद मैथिल, नरवर रघुवंशी,राजेन्द्र वर्मा सहित वकीलों का सहयोग रहा।

लोकअदालत में चार साल से बिछडे पति पत्नि में हुई सुलह

सिविल जज विंदिया पाठक की अदालत में राईखेड़ी की रौशनी पत्नि नितिन प्रजापति के बीच चार साल से चल रहे तीन अदालती मामलों में न सिर्फ सुलह हुई बल्कि पत्नि पत्नि के बीच रिश्ता दोबारा सुचारु रखने पर सहमति बनी। सिविल जज के सामने पति ने पत्नि को हार पहनाकर कभी नही झगडऩे की बात कही। सभी ने इसकी सराहना की।

Related News