Breaking News

पत्रकार को देख मजदूर महिलाओ ने कहा ” आपको मेरे साथ जो करना है वो कर लीजिए पर थोड़े पैसे दे दीजिये रास्ते मेँ कुछ खाना ले लेंगे “

Jayraj Shah 06 May 2020 9:25 AM City 82547

लोक डाउन काल मेँ गुजरात के एक निजी अख़बार मेँ छपी ये खबर लिखते हुए हमारी भी आँखों से आंसू निकल आये ! सच मेँ कितनी मजबूर होती है ग़रीबी ! ये महिला और उसका परिवार मध्य प्रदेश जा रहा है ना पैसा, ना खाना, ना सवारी, और तो और अपने पेट की भुख मिटाने के लिए औरतें चंद रुपयों मे किसी भी राह चलते इंसान को अपना शरीर बेच देने को मजबूर ।

जरा सोचिए हम कौन से युग मे आ गये हैं। जहां इंसान इतना लाचार और बेबस हमने कभी नहीं देखा

Related News