Breaking News

नाहर अम्रित शक्ति हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए एक सुरक्षित भविष्य निर्माण करने के हेतू एक साथ आए

ashish dwivedi 09 September 2019 9:44 AM Business 25663

अगस्त 2019, मुंबई: नाहर के अमृत शक्ति ने लगातार तिसरी बार अपने निवासियों के लिए ग्रीन गणेश पहल के वार्षिक दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया। सभी के लिए एक बेहतर और अधिक टिकाऊ भविष्य प्राप्त करने के लिए जागरूकता फैलाने के अपने निरंतर प्रयासों में नाहर ग्रुप ने इको-डेकोर और इको-गणेश मूर्ति बनाने पर कार्यशालाओं का आयोजन किया।

इन कार्यशालाओं को आयोजित करने के पीछे का उद्देश्य लोगों को पृथ्वीमाता को वापस देने के लिए प्रोत्साहित करना है और पीओपी (प्लास्टर ऑफ पेरिस) के बजाय शूड मिट्टी के उपयोग के साथ विभिन्न इको-फ्रेंडली मखर सजावट और गणेश की मूर्तियों के निर्माण के पुराने पारंपरिक तरीकों को अपनाना और उन्हें पर्यावरण रक्षक के रूप में जिम्मेदारी की भावना प्रदान करना है। दूरदर्शी द्वारा संचालित; नाहर ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन सुश्री मंजू याग्निक त्यौहारों के मौसम में पर्यावरण पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभावों के बारे में शिक्षित करने और जागरूकता फैलाने में विश्वास करती हैं।

पहल पर बात करते हुए नाहर ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन मंजू याग्निक ने कहा, “पर्यावरण में योगदान देने के लिए लोगों को भारी संख्या में एकसाथ आते हुए देखना आश्चर्यकारक है। इन वर्षों में, एक राज्य के रूप में मुंबई भी पर्यावरणीय क्षति की एक बड़ी मात्रा से गुज़रा है, जिसके परिणामस्वरूप विभिन्न त्योहारों के लोकाचारद्वारा हुआ है। पिछले तीन वर्षों से, नाहर ग्रुप ने ‘गो-ग्रीन’ पहल का प्रचार करने में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के प्रयास के साथ-साथ उनके रहने के वातावरण के सामाजिक और भौतिक गुणवत्ता में सुधार लाने पर ध्यान केंद्रित किया है।

हर साल कई पर्यावरणविदों द्वारा हमारे ग्रह को बचाने में मदद करने के लिए विभिन्न पहल की जाती हैं, जिसमें हम सभी भाग लेते हैं और सहमत होते हैं। इन कार्यशालाओं को अलग बनाने और अलग खड़ा करने वाली बात यह है कि नाहर में हम छोटे से शुरुवात करते हुए धीरे-धीरे आगे बढकर मजबूत होने में विश्वास करते हैं। नाहर वयस्कों को इसके बारे में जागरूक रेहने और सफाई अभियान में भाग लेंने की तुलना में हमारे बच्चों में इन मूल्यों का मनोगत करने के महत्त्व पर विश्वास करता है। अपने स्वयं के इको-फ्रेंडली गणेशा को ढालने के साथ-साथ, जो प्रकृति को बचाने की दिशा में उठाया गया कदम है, हम अपनी टाउनशिप में 10 दिनों के लिए एक कृत्रिम तालाब स्थापित करके इको-फ्रेंडली गणेशा के विसर्जन  के लिए विशेष व्यवस्था करते हैं। यह पानी सभी इको-फ्रेंडली सामग्री का विघटन करेगा, जिसे बादमे टाउनशिप में और उसके आसपास के सभी पौधों को पानी देने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। नाहर ग्रुप नाहर के नेक्टरफील्ड क्लबहाउस में 10 दिनों के लिए इको-फ्रेंडली गणेशा का स्वागत करके उत्साह के साथ इस त्यौहार के मौसम का जश्न मना रहा है।

वर्षों से ऐसे विचारशील कार्यक्रम के लिए नाहर की लगातार होस्ट होने की पहल ने निश्चित रूप से जागरूकता और शिक्षित माता-पिता को लाया है। नाहर के अमृत शक्ति में निवासी एक समुदाय के रूप में आने वाले वर्षों के लिए हमारी पृथ्वीमाता के लिए योगदान देने के प्रति तत्पर हैं।

Related News